Header Ads

आजादी के बाद भी बिजली विहीन है राजधानी का एक वार्ड और दावा छत्तीसगढ़ सरकार का जीरो पावर कट स्टेट होने का?

रायपुर:- वर्ष 2011 के आंकड़ों के अनुसार 1924 मेगावाट बिजली उत्पादन करने का दावा और छत्तीसगढ़ प्रदेश को  जीरो पावर कट स्टेट होने का दावा करने वाली छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार में प्रदेश के राजधानी रायपुर के एक वार्ड बिजली विहीन है। यहां के रहवासी अभी भी चिमनी युग मे जी रहे है, बच्चे दियासलाई के सहारे अपनी पढ़ाई कर रहे है।

राजधानी रायपुर में स्थित वार्ड क्रमांक 70 सन्त रविदास वार्ड में आजादी के बाद भी आज तक बिजली नही पहुँच पाई है। राजधानी रायपुर का यह हाल है तो प्रदेश के अन्य जगहों का अंदाजा लगाया जा सकता है। एक जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ में छ: लाख 44 हजार 45८ घरों में अब भी बिलजी नहीं है।


वही आप को बता से कि आजादी के बाद से अब तक बस्तर के 2000 गांव में बिजली नही पहुँच पाई है।
वार्ड पार्षद सोहन लाल ठाकुर बताते है वार्ड में दशकों से बिजली नही है, बिजली की समस्या को लेकर कई बार कलेक्टर से लेकर मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह तक गुहार लगा चुके है। लेकिन हालात जस के तस है, आगे वाह बताते है वार्ड में लगभग 40 परिवार रहते है और इन्हें बिजली ही नही पानी, सड़क जैसी मूलभूत सुविधा भी नही मिल पाती है।
जहाँ एक और जगमग राजधानी रायपुर है जहां जीरो पावर कट को लेकर बड़े बड़े पोस्टर टांग कर वादे किए गए है तो दूसरी और राजधानी का यह बिजली विहीन वार्ड सरकार के वादे को मुंह चिढा रहा है।
Powered by Blogger.