Header Ads

सुरक्षाबलों ने गाय चरा रहे नाबालिक बच्चे को मारी गोली, एक बच्चा अब तक लापता

सुरक्षा बलों की गोली का शिकार फिर एक बार नाबालिक बच्चे हुए है जिसमे से एक बच्चा बोटीराम मरकाम घायल है और अपोलो अस्पताल बचेली में भर्ती है ।
वेब समाचार पोर्टल The Voices के हवाले से खबर है कि  रविवार दोपहर को अपोलो अस्पताल बचेली में करका गांव से एक 11 वर्षीय घायल बच्चे को भर्ती कराने ग्रामीण पहुंचे, बच्चे को कमर के नीचे गोली लगी थी ।

करका निवासी घायल बालक बोटीराम के मुताबिक शनिवार देर शाम करका की जंगलो में बोटिराम पिता पांडु अन्य बच्चों के साथ मवेशियों को ढूंढने गये हुये थे जहां सुरक्षाबलों के साथ आमना सामना हो गया पुलिस को देख बच्चे घबराकर भागने लगे तभी जवानों ने फायरिंग शुरू कर दी ।

जानकारी हो कि हाल ही में सोनी सोरी ने आरोप लगाया था कि गोमपाड में मछली पकड़ रही युवती सोयम रामे को सुरक्षा बलों द्वारा गोली मारी गई थी।

बोटिराम को कमर में गोली लगी है। जैसे तैसे भागकर अपनी जान बचाने में बालक बोटिराम कामयाब हुआ। ग्रामीण बोटिराम को कावड़ में लेकर पहाड़ी पार कर अकाशनगर तक लेकर आए और फिर अकाशनगर से एम्बुलेंस से अपोलो अस्पताल बचेली में रविवार दोपहर को बच्चे को भर्ती कराया गया ।

ग्रामीणों के मुताबिक बोटिराम के साथ गये सोमारू पिता हूंगा अब तक लापता है । जिसकी तलाश ग्रामीण कर रहे है ।

वेब पोर्टल The Voices को अपोलो अस्पताल के चिकित्सक प्रशासक एस एम हक ने बताया कि घायल बालक को कूल्हे में एक गोली मारी गई थी और गोली के छर्रे को निकाल दिया गया है बालक की स्थिति फिलहाल खतरे बाहर नज़र आ रही है ।
बस्तर रेंज के DIG पी. सुंदरराज ने The Voices पोर्टल को  कहा है कि घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस पार्टी इस घटना की जाँच के लिए रवाना हो गई है। उनका कहना है कि बीते दो तीन दिनों से सुरक्षाबलों की कार्यवाई में तीन नक्सलियों को मार गिराने में सफलता प्राप्त हुई है वहीं नक्सलियों के द्वारा की गई फायरिंग में एक जवान भी घायल हुआ है। पी. सुंदरराज कहते हैं कि पुलिस ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए है, ये भी हो सकता है कि नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई क्रॉस फायरिंग की जद में कोई ग्रामीण आ गया हो, लेकिन घटना की पूरी जांच के बाद ही पूरी स्थिति स्पष्ट हो पाएगी
Powered by Blogger.